जयपुर,। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के पूर्व प्रमुख ललित मोदी ने राजस्‍थान के नागौर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा दे दिया है। ललित मोदी भारत में क्रिकेट प्रशासक रहे थे और उन पर अनियमितताएं करने के आरोप हैं।शुक्रवार देर रात ललित मोदी ने तीन पेज का एक पत्र जारी करके इस बारे में जानकारी दी। उन्‍होंने लिखा है, ‘अब समय आ गया है कि मैं मशाल अगली पीढ़ी की ओर बढ़ा दूं। इसलिए मैं अब क्रिकेट प्रशासन को आलविदा कहना चाहता हूं। 50 साल के ललित मोदी पर हवाला के गंभीर आरोप लगे हैं और भारतीय प्रशासन से बचने के लिए वह इन दिनों ब्रिटेन में हैं। मार्च में इंटरपोल ने उनके खिलाफ वैश्विक वारंट जारी करने की भारत की अपील को ठुकरा दिया था।’उन्‍होंने लिखा, ‘मैं इस मौके पर हर किसी को आइपीएल को इतना भव्य बनाने के लिए तहेदिल से धन्‍यवाद देता हूं।’ आपको बता दें कि नागौर जिला क्रिकेट एसोसिएशन में ललित मोदी की मौजूदगी के कारण भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने राजस्‍थान क्रिकेट एसोसिएशन को बैन कर दिया था।Dear Fans of cricket & the lifeline of the game. I want to take this oppertunity 2 thank each & everyone of you for making what it is— Lalit Kumar Modi (@LalitKModi)इसके साथ ही मोदी ने उम्मीद जताई है कि बीसीसीआइ अब राजस्थान क्रिकेतट एसोसिएशन से यह प्रतिबंध हटा लेगा और क्रिकेट के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये का फंड मिल जाएगा।पिछले तीन सालों में राजस्‍थान ने एक भी इंडियन प्रीमियर लीग या अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट मैच की मेजबानी नहीं की है। ललित मोदी अपने 22 साल के बेटे रुचिर को क्रिकेट प्रशासक बनाना चाहते हैं, हालांकि इसी साल जून में राजस्‍थान क्रिकेट एसोसिएशन के बहुचर्चित चुनाव में रुचिर को कांग्रेस के दिग्‍गज सीपी जोशी ने हरा दिया था।