[vc_row][vc_column width=”1/2″][vc_column_text]

ऋतू राज बसंत आप सभी के जीवन में अपार खुशिया लाये. यह बसंत हमारे जीवन व देश के जवानों को नए सीख व उत्साह दे.

इन्ही कामनों के माँ सरस्वती के चरणों में कुछ शब्द समपर्पित है|
वीणा वादिनी नमन युवाओ को चरित्र दे
मिटा सके जो मन की गंध ऐसा कोई इत्र दे
एकता का देश से हाश हो रहा है माँ
अनेकता में एकता का फिर मानचित्र दे
विनम्रता हो वस्त्र और बुफ्फहि जिसका सस्त्र हो
तो भारती को आज फिर नरेंद्र जैसा पुत्र दे[/vc_column_text][/vc_column][vc_column width=”1/2″][vc_column_text]

ऋतू राज बसंत आप सभी के जीवन में अपार खुशिया लाये. यह बसंत हमारे जीवन व देश के जवानों को नए सीख व उत्साह दे.

इन्ही कामनों के माँ सरस्वती के चरणों में कुछ शब्द समपर्पित है|
वीणा वादिनी नमन युवाओ को चरित्र दे
मिटा सके जो मन की गंध ऐसा कोई इत्र दे
एकता का देश से हाश हो रहा है माँ
अनेकता में एकता का फिर मानचित्र दे
विनम्रता हो वस्त्र और बुफ्फहि जिसका सस्त्र हो
तो भारती को आज फिर नरेंद्र जैसा पुत्र दे[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]